अमेरिकी वर्चस्व से आप क्या समझते हैं?

उत्तर : जब अन्तर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में ताकत का केन्द्र एक ही हो तो इसे वर्चस्व कहते हैं। जैसे सोवियत संघ के पतन के बाद अमेरिका दुनिया में एक महाशक्ति बना।