गणेश चतुर्थी का उद्यापन कैसे किया जाता है?

गणेश चतुर्थी के उद्यापन के लिए प्रातः सुबह उठकर जल्दी स्नान करते हैं और एक चौकी पर भगवान की प्रतिमा के साथ कलश की स्थापना भी करते हैं। कलश के ऊपर एक स्वास्तिक बनाया जाता है जिसके ऊपर तिलकुट और एक सिक्का रखा जाता है। इसके बाद कलश पर 13 बिंदीयाँ लगाई जाती है और भगवान की विधिवत पूजा की जाती है।