गूंगे कहानी में गूंगे किसका प्रतीक है?

 ‘मनुष्य की करुणा की भावना उसके भीतर के गूंगेपन की प्रतिच्छाया है। ‘ कहानी के इस कथन को वर्तमान सामाजिक प्रवेश के संदर्भ में स्पष्ट कीजिए। उत्तर: कहानी के इस कथन में की मनुष्य की करुण भावना उसके भीतर के गूंगेपन की प्रतिच्छाया है लेखक ने इसका संबंध सामाजिक परिवेश के संदर्भ में किया है।