चर और अचर क्या होता है?

जैसे हम एक लारी को रस्सी से खींचते हैं तो उस पर लगाया गया बल, उसके द्वारा तै की गई दूरी, उसकी चाल आदि परिवर्तित हो सकती है किन्तु उसका द्रव्यमान स्थिर रहेगा। अतः बल, चाल एवं दूरी को जिन संकेतों से निरुपित करेंगे उन्हें चर कहेंगे तथा द्रव्यमान के संकेत को अचर कहेंगे।