तिरंगे को रात में क्यों नहीं लगाया जाता?

भारत के ध्वज संहिता 2002 के संशोधन के बाद अब निम्नानुसार पढ़ा जाएगा-जहां झंडा खुले में प्रदर्शित किया जाता है या जनता के घर पर प्रदर्शित किया जाता है, उसे दिन-रात फहराया जा सकता है। इससे पहले तिरंगे को केवल दिन में ही यानि सूर्योदय से सूर्यास्त तक फहराने की ही अनुमति थी। चाहे मौसम कोई भी हो, यही नियम लागू होगा.