फ्रांस की राज्य क्रांति में दार्शनिकों का क्या योगदान था?

वाल्टेयर, दीदरो, मोंटेस्कू एवं रूसो के विचारों को फ्रांसीसी क्रांति के उद्भव से जोड़कर देखा जाता है। इन विचारकों ने राजतंत्र, चर्च एवं कुलीन वर्ग पर प्रहार कर पुरातन व्यवस्था की वैधता पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया। इन विचारकों ने लोगों का ध्यान राजनीतिक, आर्थिक एवं सामाजिक समस्याओं की ओर आकर्षित किया।