भाषा का मूल रूप क्या है मौखिक या लिखित?

भाषा’ का मूल स्वरूप बोली होता है। क्योंकि सबसे पहले बोली ही अस्तित्व में आई। मौखिक भाषा ही बोली थी, जो सबसे पहले अस्तित्व में आई। भाषा का लिखित स्वरूप तो विकास के क्रम में बहुत बाद में अस्तित्व में आया।