राजेश्वरी एक आदर्श पात्र है क्योंकि?

राजेश्वरी एक सुलझी हुई महिला है जो की अपनी बहु का सम्मान करती है। राजेश्वरी के महिला होने के नाते बहु की भावनाओं को समझती है ,और उसका समर्थन करती है। राजेश्वरी दहेज़ प्रथा की बुराईयों को समझते हुए बहु को मायके जाने का समर्थन करती है।