वीरगाथा काल की प्रमुख विशेषताएं क्या है?

कवि द्वारा घटनाओं की कल्पना कर लेने से इनमें ऐतिहासिक तथ्य ही उपलब्ध होते हैं। (2) आश्रयदाताओं की अतिशयोक्तिपूर्ण प्रशंसा– वीरगाथा काल के कवियों ने अपने आश्रयदाता-राजाओं और सामन्तों का अतिशयोक्तिपूर्ण वर्णन किया है। इन चारण कवियों ने अपने आश्रयदाता राजाओं को राम, कृष्ण आदि से श्रेष्ठ एवं महान घोषित किया है।