1964 mein suchna aur prasaran mantri kaun the

पिता के निधन के बाद कांग्रेस पार्टी में इंदिरा गांधी का ग्राफ अचानक काफी ऊपर पहुंचा और लोग उनमें पार्टी एवं देश का नेता देखने लगे. वह सबसे पहले लाल बहादुर शास्त्री के मंत्रिमंडल में सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनीं. शास्त्री जी के निधन के बाद 1966 में वह देश के सबसे शक्तिशाली पद (प्रधानमंत्री) पर आसीन हुईं.