Aapda prabandhan ke prakar

आपदा प्रबंधन दो प्रकार से किया जाता है आपदा से पूर्व एवं आपदा के पश्चात। सूखा, बाढ़, भूकंप, भूस्खलन एवं सुनामी। वे समस्त घटनाएं जो प्रकृति मे विस्तृत रूप से घटित होती है और जिनका प्रभाव विनाशकारी होता है। वे आपदाएं जो मानव के कारण उत्पन्न होती है, मानवकृत आपदाएं कही जाती है। मानवकृत आपदाएं वे संटक है जो मानवीय महत्वाकांक्षा व प्रयासों से सम्बंधित है।