Akbar ki dharmik niti ka mulyankan kijiye

अकबर की धार्मिक सहिष्णुता, उदारता और ‘सुलह-ए-कुल’ की नीति को निर्मित करने में अनेक तथ्यों और परिस्थितियों ने योगदान दिया। अकबर के पितामह बाबर और विशेषकर उसके पिता हुमायूं ने धार्मिक कट्टरता या असहिष्णुता का कोई माहौल नहीं बनाया था। अकबर की माता हमीदा बानो बेगम तथा उसका संरक्षक बैरम खां शिया थे।

Scroll to Top