Boom cave in multimedia in hindi

CAVE एक बड़े कमरे के भीतर सम्‍मिलित है जो CAVE उपयोग में होने पर बिल्‍कुल अंधेरा होना चाहिए। CAVE के भीतर त्रि-आयामी (3-D) चित्र मध्य-हवा में तैरते दिखाई देते हैं। दर्शक, जिसका हेडगियर प्रोजेक्टर के साथ सिंक्रनाइज़ है, सभी कोणों से इसका अध्ययन करने के लिए एक इमेज के आसपास चल सकता है।

Virtual reality एक ऐसा कृत्रिम वातावरण जो सॉफ़्टवेयर के मदद से बनाया गया है। इसके साथ ये उपयोगकर्ता को इस तरह प्रस्तुत किया गया जाता है जो कि उपयोगकर्ता को उसके असली होने के लिए प्रेरित करता है। यानी की उपयोगकर्ता को ये बिलकुल ही आसानी से विश्वास हो जाता है की वो जो देख, सुन और महसूस कर रहा है वो सच में महजूद है।

वो इसे वास्तविक वातावरण के रूप में स्वीकार करता है। कम्प्यूटर हार्ड्वेर और सॉफ़्ट्वेर के मदद से मानो एक पूरी तरह से असली वाला वातावरण बना दिया जाता है। लेकिन असल में यह बस एक काल्पनिक वातावरण ही होता है।

इसलिए आज मैंने सोचा क्यूँ न आप लोगों को virtual reality क्या होता है Hindi में के विषय में जानकारी प्रदान करूँ जिससे आपको इस technology को समझने में आसानी होगी. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

वर्चुअल रियलिटी क्या है (Virtual Reality in Hindi)

Virtual Reality दो शब्दों का समाहार है ‘virtual’ और ‘reality’. जहाँ ‘virtual’ का अर्थ है near (पास) और reality का अर्थ है ऐसा experience जो हम human beings महसूस करते हैं (सत्य जैसा). इसलिए ‘virtual reality’ का मतलब है reality के जैसे. इसका मतलब है की यह एक specific प्रकार का reality emulation होता है.

Virtual reality (VR) एक प्रकार का ऐसा अनुभव है जिसे की केवल computers और hardware की मदद से ही experience किया जाता है. एक ऐसा believable, interactive 3D computer-created world होता है जिसे की आप दोनों mentally और physically महसूस कर सकते हैं.

Virtual Reality के features in hindi

तो चलिए जानते हैं virtual reality के कुछ essential features:

1. Believable:

जैसे जैसे आप ऐसे virtual world के विषय में believe करते रहें, आपको ये बिलकुल भी पता नहीं चलेगा की ये एक virtual reality है या नहीं.

2. Interactive:

इस virtual world को आपके साथ move करना होगा जिससे ये प्रतीत हो की ये ज्यादा interactive दिखे. यदि ये ज्यादा interactive न दिखे तब इसे virtual reality नहीं कहा जा सकता है.

3. Computer-generated:

ये बहुत ही महत्वपूर्ण है क्यूंकि इसे केवल powerful machines, जिसमें की realistic 3D computer graphics का इस्तमाल होता है, का ही इस्तमाल किया जाता है जिससे की ये इतना fast हो जिससे की ये believable, interactive, alternative दुनिया की संरचना कर सकता है. इससे ये आसानी से real-time में बदल सकता है जिससे ये और भी real प्रतीत होता है.

4. Explorable:

एक VR world को बड़ा और detailed होना चाहिए जिससे इसे अच्छे तरीके से explore किया जा सके. जितनी भी realistic एक painting हो लेकिन अगर इसमें ज्यादा details न हो तब ये ज्यादा explorable नहीं होगा. एक बेहतर VR के लिए इसका explorable होना बहुत जरुरी है.

5. Immersive:

VR को ज्यादा believable और interactive बनाने के लिए VR को हमारे दोनों body और mind को immersive करना होगा. यदि कोई चीज़ ज्यादा आकर्षक नहीं होगी तब ये हमारे मन को ज्यादा आकर्षित नहीं कर सकेगी जिससे की हमें reality के विषय में आसानी से मालूम पड़ जायेगा. इसलिए VR जितनी ज्यादा immersive होगी उतनी ही ज्यादा real प्रतीत होगी.

इसलिए VR बहुत ही अलग दुनिया है. ये आपको सोचने के लिए मजबूर कर देगी की आप एक completely believable virtual world के बिच जी रहे हैं. ये two-way interactive होना चाहिए जिससे जिस प्रकार से आप अपने movement करें ठीक वैसे वैसे आपके reaction के हिसाब से आपकी VR भी बदल जाती है.