Constipation in hindi

कब्ज

शारीरिक गतिविधि की कमी के चलते कब्ज की दिक्कत होना बहुत आम बात है।

सुबह-सुबह अगर शौच ठीक से न हो तो दिनभर मन सही नहीं रहता. इसमें बिना कुछ खाए भी पेट भारी सा लगता है. कब्‍ज में गैस बनने लगे तो पेट फूलने लगता है.

कब्ज होने पर गैस की समस्या हो जाए तो लोगों के बीच शर्मिंदा भी होना पड़ता है. बहुत सारे लोग सोचते हैं कि कब्ज ही तो है, इसमें दवा क्या लेना! दवा नहीं भी लेना हो तो आप आयुर्वेद में बताए गए उपाय आजमा सकते हैं. यहां हम कुछ उपायों के बारे में बात करते हैं.

एक सेब रोज सुबह

सेब, स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है. तभी तो कहा जाता है कि An Apple in a Day, Keeps the Dostor Away. यानी एक सेब रोज खाने से डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होती है. आयुर्वेद में रोज सुबह उठते ही एक सेब खाने की सलाह दी जाती है.

एक्सपर्ट बताते हैं कि सेब में फाइबर होता है जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसलिए रोज एक सेब खाने से आप कई बीमारियों से बचे रहेंगे. कब्ज जैसी समस्या में भी यह बड़े काम का होता है.

जीरे और अजवाइन का पानी

हर सुबह जीरे और अजवाइन का पानी पीने से आपकी पुरानी से पुरानी पेट संबंधी समस्या दूर होती है. एसिडिटी और कब्ज की समस्या को जड़ से खत्म

करने के लिए यह पानी पीने की सलाह दी जाती है.

यही वजह है कि जीरे और अजवाइन के पानी को पेट के लिए ‘जादुई पानी’ भी कहा जाता है. इस पानी को पीने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और पाचन शक्ति मजबूत होती है.

अजवाइन, त्रिफला और सेंधा नमक

कब्ज की समस्या हो तो 10 ग्राम अजवाइन, 10 ग्राम त्रिफला और 10 ग्राम सेंधा नमक लें. अब इसे पीस कर उसका चूर्ण बना लें. हर दिन इस चूर्ण को तीन से पांच ग्राम की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ लेंगे. बताया जाता है कि आपको बहुत जल्द ही आराम मिलेगा.

गैस की समस्या में आप इनो का इस्तेमाल तो करते ही होंगे. कब्ज में आप खाने वाले सोडा को पानी में घोलकर पी सकते हैं. यह भी इनो की तरह ही काम करता है. इससे आपका पेट साफ रहता है. इसके सेवन से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है.

इमली में भी एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं, इसलिए कब्ज की समस्या में इमली और गुड़ की चटनी का सेवन करने की भी सलाह दी जाती है. इससे आपका पेट साफ रहता है और कब्ज की समस्या में भी राहत मिलेगी.