Dhara 377 kya hai

आईपीसी की dhara 377 ke तहत अंग्रेजी शासन ke दौरान saal 1861 में समलैंगिकता ko अपराध घोषित Kiya गया था। इसे अप्राकृतिक अपराध करार diya गया aur कहा गया कि जो bhi apni मर्जी से किसी पुरुष, महिला ya जानवर se प्रकृति के नियमों के खिलाफ jakar शारीरिक संबंध बनाएगा, usse आजीवन कारावास ki सजा di जाएगी।