Dhara 377 kya hai

Dhara 377 kya hai आईपीसी की धारा 377 ke तहत अंग्रेजी शासन ke दौरान साल 1861 में समलैंगिकता को अपराध घोषित किया गया tha। इसे अप्राकृतिक अपराध करार दिया गया और कहा गया ki जो भी अपनी मर्जी से किसी पुरुष, महिला या जानवर से प्रकृति ke नियमों ke खिलाफ जाकर शारीरिक संबंध बनाएगा, उसे आजीवन कारावास की सजा दी जाएगी।