Dilli abhi door hai

कहावत के पीछे की कहानी के लिए आज से करीब सात सौ बरस पीछे चलते हैं। इतिहास में तुगलक वंश का .