Dussehra kab ka hai

  • आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि पर पुरुषोत्तम राम ने रावण का वध किया था, इसके साथ मां दुर्गा द्वारा महिषासुर का संहार हुआ था।
  • सनातन धर्म में इस तिथि को बेहद शुभ माना गया है और इस दिन मां दुर्गा तथा भगवान राम की पूजा की जाती है।
  • दशहरा तिथि बुराई पर अच्छाई का प्रतीक मानी गई है, इस दिन रावण का पुतला जलाया जाता है और अच्छाई की जीत की खुशियां मनाई जाती हैं।

Dussehra 2021 Date Date: हिंदू पंचांग के अनुसार, वर्ष 2021 में दशहरा या विजय दशमी का पर्व 15 अक्टूबर के दिन पड़ रहा है। जानकार बताते हैं कि यह पर्व हर वर्ष आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि पर मनाया जाता है। धार्मिक कथाओं के मुताबिक, इस दिन भगवान राम ने अत्याचारी रावण का वध किया था। इसके साथ मां दुर्गा ने महिषासुर का अंत करके बुराई पर अच्छाई के जीत का परचम लहराया था। भक्त इस दिन  मां दुर्गा तथा भगवान श्री राम की पूजा-आराधना करते हैं। माना गया है इस दिन मां दुर्गा तथा भगवान श्री राम की पूजा-आराधना करने से जीवन में सकारात्मकता आती है। इस दिन रावण का पुतला जलाने का विधान है। ऐसा करके भक्त अपने अवगुणों को जीवन से बाहर करते हैं। 

Vijayadashmi 2021 Date and time, सन 2021 में दशहरा कब है

विजय दशमी तिथि: – 15 अक्टूबर 2021, शुक्रवार 

दशमी तिथि प्रारंभ: – 14 अक्टूबर शाम 06:52

दशमी तिथि समापन: – 15 अक्टूबर 2021 शाम 06:02

श्रवण नक्षत्र प्रारंभ: – 14 अक्टूबर 2021 सुबह 09:36

श्रवण नक्षत्र समाप्त: – 15 अक्टूबर 2021 सुबह 09:16

विजय दशमी का त्योहार बुराई पर अच्छाई के जीत की खुशी में मनाया जाता है। इस दिन मां दुर्गा तथा भगवान राम की पूजा करना से भक्तों की परिशानियां दूर होती हैं। इस दिन किसान नई फसलों का जश्न मनाते हैं। वहीं प्राचीन कथाओं के अनुसार, इस दिन योद्धा अपने हथियारों की पूजा करते थे। ऐसा करके वह अपनी जीत का जश्न मनाते थे।