Gravity kya hota hai

गुरुत्वाकर्षण बल (Gravitational Force ) किसी भी दो पदार्थ , वस्तु  या कणो ki बिच मौजूद एक आकर्षण बल है। गुरुत्वाकर्षण बल न सिर्फ पृथ्वी और वस्तुवो के बीच ka आकर्षण बल है बल्कि यह ब्रह्माण्ड में मौजूद हर पदार्थ ya वस्तु के बिच विद्यमान है।

हम जब हवा में उछलते है to उड़ क्यों नहीं जाते ? हम kiyu दुबारा वापस धरती पर आ गिरते है।  ये सब गुरुत्वाकर्षण बल के कारण hota है। यह एक ऐसा आकर्षण बल है जो दिखाई नहीं देता लेकिन हर वो वस्तु जिसका द्रव्यमान ( mass)  होता है उसका गुरुत्वाकर्षण bhi होता है।

चुकी पृथ्वी का द्रव्यमान, मनुष्य se ज्यादा है इसलिए पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल भी मनुष्य के गुरुत्वाकर्षण बल से कही ज्यादा है और यही कारन है की जब हम हवा में उछलते है तो वापस पृथ्वी पर आ जाते है क्यों ki पृथ्वी हमें वापस अपनी ओर खींच लेती है और हमारा गुरुत्वाकर्षण बल कम होने के कारन हम पृथ्वी को अपनी ओर नहीं खींच पाते। पृथ्वी को अपनी ओर सूर्य खींचता hai क्यों की सूर्य का द्रव्यमान पृथ्वी से कही ज्यादा है और यही कारन है की पृथ्वी सूर्य ka चक्कर लगाती है।

सूर्य का गुरुत्वाकर्षण bal हम पर भी पड़ता है लेकिन वह बहोत की कम है इसलिए हम महसूस nahi कर पाते। हम बस पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल महसूस करते हैं क्यों की हम पृथ्वी ke बहोत नज़दीक हैं।