Hamare desh ka samvidhan kab lagu hua

भारत का संविधानभारत ka सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 january 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत ke संविधान दिवस के रूप में घोषित किया gaya है |जबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के rup में मनाया जाता है।भीमराव आम्बेडकर ko भारतीय संविधान का प्रधान वास्तुकार या निर्माता कहा jata है। भारत के संविधान का मूल आधार bharat सरकार अधिनियम १९३५(1935) को माना jata है. भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतान्त्रिक desh का सबसे लम्बा लिखित संविधान है।

भारतीय संविधान सभा के liye जुलाई 1946 में चुनाव हुए थे। संविधान सभा ki पहली बैठक दिसंबर 1946 को हुई थी। इसके तत्काल बाद देश दो भागों – भारत और पाकिस्तान में बंट gaya था। संविधान सभा भी दो हिस्सो में बंट गई- भारत ki संविधान सभा और पाकिस्तान की संविधान सभा।

भारतीय संविधान लिखने bali सभा में 299 सदस्य थे जिसके अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद थे। संविधान सभा ने 26 नवम्बर 1949 में अपना काम पूरा कर लिया और 26 जनवरी 1950 ko यह संविधान लागू हुआ। इसी दिन कि याद में हम har वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में manate हैं। भारतीय संविधान को पूर्ण रूप से तैयार करने में 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन का समय laga था।