I love you ka full form kya hota hai

लव का फुल फॉर्म जानने से पहले, हमें इसके अर्थ को समझना जरूरी है. लोग अक्सर प्यार के बारे में बात करते हैं, लेकिन हममें से ज्यादातर लोग इसके सही मतलब के बारे में पूरी तरह से नहीं जानते हैं. आज का प्यार क्या है? बाइक पर बैठना, नए कपड़ों में जाना, shopping करना, movies देखना है !!!!! और घंटों मोबाइल पर बात करना, लेकिन जब बात जिम्मेदारी की आती है, तो कोई भी जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार नहीं होता.

आज के समय में, वास्तव में ऐसा कोई प्यार नहीं है. आज के युवाओं के मुंह से दस बार कहने के लिए ‘I love you‘ होता है, क्या यही प्यार है? वास्तव में, love का मतलब सिर्फ प्यार नहीं है. लेकिन प्यार का मतलब है, हार मान लेना, आप जो चाहते हैं उसे पाने की कोशिश करना, लेकिन मर्यादा के भीतर रहना … भले ही आपको अपने प्यार के लिए इससे दूर रहना पड़े. ” यदि कोई आपसे दूर जा रहा है, तो उन्हें जाने दें. अगर यह वास्तव में आपका है तो निश्चित रूप से वापस आ जाएगा.” और अगर ऐसा नहीं होता है, तो आपको एहसास होता है कि यह आप नहीं थे. “

ये भले भांति जान लीजिये की Love कोई acronym नहीं है इसलिए इसका कोई full form भी नहीं होता है. वैसे Love या प्यार एक बहुत ही intense emotions होता है जिसे की हम मनुष्य ही experience कर पाते है. ये बहुत से अलग अलग variety की feelings, states और attitudes होती है जिसकी range होती है interpersonal affection से pleasure तक. वहीँ सच्चे Love की कोई limits या conditions नहीं होते है एक इन्सान के लिए. आज मैंने सोचा की क्यों न आप लोगों को Love Full Form in hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे आपको भी इस विषय में जानकारी हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

लव का पूरा नाम क्या है

Love एक भावना है जिसे मनुष्य अनुभव कर सकता है. प्यार एक शब्द है जो किसी को भावनाओं और स्नेह व्यक्त करने के लिए उपयोग किया जाता है. यह एक सही शब्द है जिसका उपयोग आप किसी ऐसे व्यक्ति को बताने की कोशिश करते हैं जो आपको उसके बारे में वास्तव में परवाह करता है.

प्रेम सम्पूर्णता नहीं है. लोग प्यार को एक अधिकार के रूप में देखते हैं जिसे हासिल करना और संरक्षित करना है. जब हम किसी से प्यार करते हैं तो हम चाहते हैं कि वे भी ऐसा ही करें .. लेकिन यह गलत है. किसी को भी हमारे जैसा करने पर जोर नहीं देना चाहिए. यदि हम किसी को बदलने की कोशिश करते हैं, तो यह प्यार नहीं है, उन्हें स्वीकार करें जैसे वे हैं, यही सच्ची भावना है. कर्म और फल केवल भिन्न नहीं हैं.

अगर हम किसी से स्वार्थ से प्यार करते हैं तो स्वार्थ विपरीत होगा. और फिर रिश्तों में मिठास कड़वाहट में बदल जाएगी. और फिर शिकायतें, विवाद चलेंगे. और आखिरकार रिश्ता खत्म हो जाता है…. क्या माता-पिता, माता-पिता, भाई-बहन, दोस्तों, पतियों, या पत्नियों के लिए समान प्यार साझा नहीं कर सकते?

अलग-अलग परिस्थितियों में अलग-अलग लोगों के लिए love की अलग-अलग परिभाषा होती है. उदाहरण के लिए: एक माँ के लिए, यह अलग है और एक पत्नी और बच्चों के लिए, यह अलग है.

लव का फुल फॉर्म हिंदी में – Full form of LOVE in Hindi

LOVE का वास्तव में कोई full form नहीं है, लेकिन अलग-अलग लोग अपनी स्थिति के अनुसार अपने अलग-अलग full form बनाते हैं, जिनमें से कुछ नीचे दर्शाए गए हैं, I Love You Ka Full Form.

L: Life’s
O: Only
V: Valuable
E: Emotion
[/su_note]

(जीवन की केवल मूल्यवान भावना)

LOVE का Second फुल फॉर्म :

L: Long Lasting
O: Original
V: Valuable
E: Emotion
[/su_note]

Love एक गहन भावना है जो आपके भीतर पनपती है . किसी के लिए एक गहरा स्नेह या प्रेम, एक निश्चित व्यक्ति के लिए एक लगाव या इच्छा जिसके बिना आप जीने की कल्पना नहीं कर सकते. अगर आप जानना चाहते हैं की love शब्द को और किस नाम से जाना जाता है तो love शब्द के कुछ पर्यायवाची शब्द प्रेम, चाह, प्रीति, लगाव, अनुराग, स्नेह, प्रणय, अनुरक्ति, वात्सल्य, मोहब्बत, इश्क आदि हैं.

प्रेम को इन पर्यायवाची शब्दों के द्वारा भी जाना जाता है

प्रेम शब्द हिंदी के ढाई अक्षरों से बना है. हिंदी साहित्य में प्यार को कई अन्य पर्यायवाची शब्दों के द्वारा जाना जाता है. अनुराग, प्रणय, स्नेह, और अनुरक्ति जैसे शब्द प्रेम के पर्यायवाची शब्द है.