Jahangir ke pita ka naam

Contents

Jahangir ke pita ka naam

Jahangir ke pita ka naam hai akbar

अकबर की कितनी पत्नी थी

अकबर की कुल सात पत्नियां थी। राजा की यह सातों रानियाँ अपने आप मे खास तो थी ही, साथ ही अकबर के जीवन मे इनका special महत्व था। अब उनको हम विस्तारपूर्वक जानते है। अकबर की सात पत्नियों मे रुकैक्या सुल्तान बेगम राजा की पहली पत्नी thi

जोधा बाई किसकी पत्नी थी?

जहाँ तक इतिहास की बात है तो जोधा मुग़ल शहज़ादे सलीम या जहाँगीर की पत्नी थी. दरअसल उनका नाम मानवती था, जिसे उनकी विद्वता के कारण जगत गुसाईं कहा  gaya

जोधा ने अकबर से शादी क्यों की?

इतिहासकारों और कुछ गाइड्स की गलतफहमी की वजह से अकबर का नाम उन्हीं की बहु जोधाबाई के साथ जोड़ दिया गया। दरअसल जोधाबाई उनके बेटे सलीम उर्फ जहांगीर की पत्नी थी, लेकिन जोधा अकबर की प्रेम कहानी में कोई सच्चाई नहीं है। … अकबर ने अपने राज्य विस्तार और विलास के लिए कई हिन्दू राजकुमारियों के साथ विवाह किया tha

जोधा बाई किसकी पत्नी थी?

जहाँ तक इतिहास की बात है तो जोधा मुग़ल शहज़ादे सलीम या जहाँगीर की पत्नी थी. दरअसल उनका नाम मानवती था, जिसे उनकी विद्वता के कारण जगत गुसाईं कहा  hai

क्या जोधा अकबर की पत्नी थी?

दरअसल जोधाबाई उनके बेटे सलीम उर्फ जहांगीर की पत्नी थी, लेकिन पिछली एक सदी में टूरिस्ट गाइड्स की वजह से उनका नाम अकबर के साथ जोड़ दिया गया था। न तो जोधाबाई का विवाह अकबर के साथ हुआ था और न ही विदाई के समय जोधाबाई को दिल्ली भेजा गया था। … अकबर का विवाह जोधाबाई के नाम पर दीवान वीरमल की बेटी पानबाई के साथ रचाया गया tha

जोधा बाई किसकी बेटी थी?

वे जयपुर की आमेर रियासत के राजा भारमल की पुत्री थी। उनके गर्भ से मुगल सल्तनत के वलीअहद और अगले बादशाह नूरुद्दीन जहाँगीर पैदा हुए। इन्हें हीरा कुंवारी, जोधाबाई, हरखा बाई आदि नामों से जाना जाता tha

अकबर की पत्नी का नाम क्या था?

अकबर

जलाल-उद्दीन मोहम्मद अकबर جلال الدین محمد اکبر
जीवनसंगीरुक़ाइय्याबेगम बेगम सहिबा, सलीमा सुल्तान बेगम सहिबा और मारियाम उज़-ज़मानि बेगम सहिबा
घरानातिमुर मुग़ल
पिताहुमायूँ
मातानवाब हमीदा बानो बेगम साहिबा

अकबर की कितनी बहने थी

अकबर के हरम में पांच हजार औरतें थीं और ये पांच हजार औरतें उसकी ३६ पत्नियों से अलग thi

जोधा की मौत कैसे हुई

जब सलीम ने अकबर से बगावत कर दी थी, तो जोधा इससे सदमे में चली गई एवं वो बीमार रहने लगी थी। इससे उसे दिल दौरा पड़ा एवं उनकी मौत 19 May 1623 में आगरा में ही हो गई। तत्पश्चात सलीम ने जोधा के शव को अकबर की कब्र के नजदीक दफन कर दिया tha