Kundalini shakti kya hai

Adhikansa लोग ये समझते है कि kundalini जागरण ka तात्पर्य है, आत्मज्ञान प्राप्त हो जाना, परमात्मा में विलीन हो जाना और ध्यान कि गहराई में उतरकर समाधिस्थ हो जाना । … Kundalini  हमारे सात केन्द्र शरीर के भीतर है जिन्हें हमने सप्तचक्र कहा : मूलाधार, स्वाधिष्ठान,manipur , अनाहत, विशुद्ध, आज्ञा और सहस्त्रार कमलदल