Liquid kya hai

कुछ ऐसी द्रवे होती हैं, jinme बहुत छोटे छोटे विलायक के रूप मे ठोस कण hote हैं। ये आम तौर पर प्रकृति मे कम पाया jata है। लेकिन कृतिम रूप मे बहुत देखने को मिल सकताhai। जैसे – दवाओं के दुकान पर ‘सिरप – syrup’। इसे ज्यादे देर के लिए रख देने पर ठोस कण, शीशी ke निचले सतह मे बैठ जाते हैं। इसी लिए डॉक्टर bolte हैं, इस्तेमाल करने से पहले इसे jor से हिलाएँ।

जब किसी विलायक मे कोई पदार्थ ऐसे मिक्स करते है, की वो पदार्थ पूर्णतया घुल कर अदृश्य ho जाता है यानी आण्विक स्थान मे विलीन ho जाता है, तो उसे विलयन liquid कहते है। जब kishi विलायक मे कोई पदार्थ ऐसे मिक्स करते है, ki वो पदार्थ पूर्णतया घुल कर अदृश्य हो जाता है yani आण्विक स्थान मे विलीन हो जाता है, तो उसे विलयन liquid कहते है। जैसे – चीनी को पानी (विलायक) मे मिलाने पर बना शर्बत। – चीनी को पानी (विलायक) मे मिलाने par बना शर्बत।

दो या दो से अधिक तरल पदार्थो ka मिश्रण, जो की सामान्य रूप मे अमिश्रणीय hote हैं। पायस यानी इमल्शन liquid होते हैं। जैसे – विनैग्रेट्स, होमोजिनाइज्ड मिल्क आदि। जब हमारे हाथ पर कोई तेल लगा रहता है, to इसे हम ऐसे ही केवल पानी से नहीं साफ कर पाते है। लेकिन jese ही साबुन लगाते है, वैसे ही तेल हाथ से छुट jata है। अर्थात साबुन, पानी को तेल के साथ पायस banata है और हाथ से