Meerabai chanu

साइखोम मीराबाई चानू जीवन परिचय, Tokyo ओलिंपिक में भारत को रजत पदक, कॉमन वैल्थ स्वर्ण पदक विजेता,  (Saikhom Mirabai Chanu Biography Hindi) [Won Medal in Tokyo Olympic, 49 kg Category )  (Weightlifting, State, Coach, religion, net worth, family) 

मीराबाई चानू एक भारतीय खिलाड़ी है जिन्होंने हाल ही में कॉमन वेल्थ गेम्स में इंडिया को वेटलिफ्टिंग में पहला गोल्ड मैडल दिलवाकर गौरवान्वित किया है. इस दौरान मीराबाई ने 6 लिफ्टिंग में 6 रिकॉर्ड तोड़े और महिलाओं की वेटलिफ्टिंग में 48 किलोग्राम में पहला स्थान हासिल किया. इसी साल भारत सरकार ने भी इन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया है, जो कि एक बहुत बड़ा सम्मान है. मीराबाई इंडिया में मणिपुर की रहने वाली है. इनके विभिन्न प्रतियोगितओं में प्रदर्शन को देखते हुए इंडिया को इनसे आगे भी कई उम्मीदें है.

साइखोम मीराबाई चानू रजत पदक mira chanu weightlifting silver in olympics

हालही में टोक्यो ओलिंपिक में मीरा बाई चानू ने भारत को वेट लिफ्टिंग में 49 किलोग्राम केटेगरी में रजक पदक जीतकर गौरवान्वित किया है. इससे भारत को सन 2021 के ओलिम्पिक में पहला पदक हासिल हो गया है.

साइखोम मीराबाई चानू जन्म (Date of Birth)

मीराबाई चानू का जन्म मणिपुर के इम्फाल में हुआ. यह मणिपुर के पूर्व में स्थित है. इनकी जन्म तारीख 8 अगस्त 1994 है. इस हिसाब से इनकी अब तक उम्र मात्र 23 साल है. इनकी शिक्षा भी यही से शुरू हुई .

मीराबाई चानू परिवार (family)

मीराबाई चानू एक मध्यम परिवार से ताल्लुक रखती हैं इनकी माता जी एक ग्रहणी होने के साथ-साथ एक दुकानदार है जिनका नाम साइकोहं ऊँगबी तोम्बी लीमा है। इनके पिता पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट में काम करते हैं जिनका नाम साइकोहं कृति मैतेई है। मीराबाई चानू बचपन से ही काफी एक्टिव रही है और वेट लिफ्टिंग की तरफ आकर्षित रही हैं बचपन से ही वह भारी वस्तु को उठाकर वेटलिफ्टिंग की प्रेक्टिस किया करती थी।

साइखोम मीराबाई चानू कोच (Mirabai Chanu Coach)

वेट लिफ्टिंग में मीरा की कोच कुंजरानी देवी है जो खुद भी वेट लिफ्टिंग में एक भारतीय खिलाड़ी है. कुंजरानी भी इम्फाल मणिपुर की ही रहने वाली है.

साइखोम मीराबाई चानू वर्ल्ड रिकार्ड्स (Mirabai Chanu World Records)

मीराबाई ने मात्र 24 वर्ष की उम्र में कई रिकॉर्ड अपने नाम किये है जिसकी जानकारी नीचे दी गई है.

  • मीराबाई एक महिला वेट लिफ्टर है, जिन्होंने साल 2017 में हुई वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में 48 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड मैडल हासिल किया था. इसके पहले साल 2014 में भी इन्होने ग्लासगो में संपन्न हुए कॉमन वेल्थ गेम्स में भी 48 किलोग्राम वर्ग में सिल्वर मैडल जीता था.
  • इस वर्ष 2018 में भी इन्होने कॉमन वेल्थ गेम्स में गोल्ड हासिल कर इंडिया को पहला गोल्ड दिलवाया. यह गोल्ड भी महिलाओं की 48 किलोग्राम वेट लिफ्टिंग में है.
  • मीराबाई का चयन 2016 में संपन्न रिओ ओलिंपिक में भी हुआ था, परंतु दुर्भाग्यवश वे इस दौरान इंडिया के लिए कोइ मैडल नहीं ला पाई थी .
  • इन्होने साल 2016 में गुवाहाटी में संपन्न हुए बारहवे साउथ एशियन गेम्स में भी गोल्ड मैडल हासिल किया था.
  • सम्मान : खेलों में इनके बेहतर प्रदर्शन और लगन के चलते मणिपुर के मुख्यमंत्री ने भी इन्हें 20 लाख की राशि प्रदान की थी. और अपने प्रदर्शन से इन्होने अपना, मणिपुर और इंडिया का नाम रोशन किया.