Metaverse meaning in hindi

Metaverse एक ऐसा वर्चूअल दुनिया है जहां पर आपको एक अलग ही प्रकार का अनुभव होने वाला है। वैसे तो ये एक कम्प्यूटर द्वारा तैयार की गयी दुनिया है लेकिन ये हुबहू असली दुनिया से भी ज़्यादा सच्ची दिखायी पड़ती है। Metaverse को इंटर्नेट का अगला दौर कहना ग़लत नहीं होगा।

यह एक ऐसी काल्पनिक दुनिया है जिसे की तैयार किया गया है advanced  AI टेक्नॉलजी जैसे की वर्चूअल और augmented रीऐलिटी को एक साथ जोड़ कर। एक आपको वर्चूअल दुनिया का एक अलग ही अनुभव प्रदान करने वाले हैं।

चलिए Metaverse Meaning in Hindi के बारे में और कुछ नया जानते है।

Metaverse in Hindi

Metaverse का मुख्य उद्देस्य ही है की आपको एक अलग ही प्रकार का अनुभव प्रदान करना, जिसमें आपको लगे की आप किसी दूसरे इंसान के साथ उसके घर पर उपस्तिथ हो। फिर भले ही वो आपको दोस्त आपसे कितनी भी दूर क्यूँ ना रह रहा हो। आप इसमें एक झटके में खुद को teleport कर सकते हैं और जहां चाहें वहाँ पर पहुँच सकते हैं। फिर वो चाहे आपका ऑफ़िस हो, आपके दोस्त का घर हो या किसी फ़िल्म हॉल हो।

Metaverse एक ऐसी जगह है जिसकी कोई लिमिट ही नहीं है, यानी की यहाँ पर कभी भी कुछ भी कर सकते हो। लेकिन एक बात है की ये सभी चीज़ें ऑनलाइन ही होंगी। Metaverse को आप एक digital intersection समझ सकते हैं social media, augmented reality, virtual reality, gaming, shopping,  cryptocurrency, और actual reality (असली दुनिया की)।

क्या Facebook का नाम बदल दिया गया है “meta”

जी हाँ दोस्तों, आख़िर में Facebook ने अपना नाम हमेशा के लिए बदल दिया है। अब Facebook को हम अपने नए नाम “meta” से पहचानेंगे। Facebook ने अपना नया नाम Meta इस महीने के 28 October को ही रखा है।

Metaverse कैसा नज़र आने वाला है

अब जब की हमने ये तो समझ ही लिया की Metaverse क्या है अब सवाल आता है की आख़िर Metaverse असली में कैसा नज़र आने वाला है। क्या क्या ऐसी चीज़ें होंगी जो की हमें Metaverse में नज़र आएँगी। चलिए उस विषय में जानते हैं।

Avatars

Avatars का मतलब होता है 3D representations या प्रतिरूप असली लोगों के। वहीं, metaverse में भी, users अपने हिसाब से customized avatars तैयार कर सकते हैं और वहीं किसी भी physical characteristics और personalities को धारण कर सकते हैं, अपने हिसाब से। आपके avatar दूसरे avtar से interact कर पाएँगे इस प्लाट्फ़ोर्म के भीतर ही।

आसानी से अलग अलग Components के भीतर आ जा सकते हैं

आज के समय में भी हम कुछ जगहों में metaverse के components का इस्तमाल कर रहे हैं (जैसे की virtual shopping, games, casinos, और concerts), लेकिन फिर भी ऐसी ऐसी प्लाट्फ़ोर्म का अभाव अभी भी है जो की हमें अपने उसी avtar में सभी जगहों में जाने आने की सुविधा प्रदान करे।

आकस्मिक उपयोगकर्ता व्यवहार

आज के apps और प्लाट्फ़ोर्म में बहुत ही कम और limited functionality प्रदान की गयी है, लेकिन metaverse में यूज़र को पूरी छूट होगी की वो virtaully कुछ भी कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर दो खिलाड़ी कुछ खेल रहे हैं (ludo) लेकिन अभी उन्हें खेलने का मन नहीं किया। ऐसे में वो चाहें तो खेल को वहीं रोककर वहीं इसी दुनिया के भीतर हाइकिंग में जा सकते हैं, किसी कॉन्सर्ट में जा सकते हैं और जो भी करना चाहें कर सकते हैं। वहीं अंत में फिर से अपने गेम में वापस भी आ सकते हैं।

बेहतर User Experience

एक बेहतर metaverse User Experience प्राप्त करने के लिए बेहतर टेक्नॉलजी का होना उतना ही आवश्यक होता है। अभी के दौर में हमारे पास जो high-quality virtual reality headsets, better computers, augmented reality, और faster networks उन्हें धीरे धीरे ज़्यादा बेहतर बनाना होगा। इससे हमें बेहतर से बेहतर User Experience मिलने की उम्मीद है।

वहीं हमें ऐसे तरीक़े का इजात करना होगा जिससे की digital twins तैयार किया जा सके – virtual models जो की असल रूप में physical चीज़ें जैसे की कार, buildings या bridges का रूपांतरण हो – और haptic technology, जो की एक ऐसै अनुभव पैदा करें जो की यूज़र को touch या motion का आभास कराए।