Padhne ka time table

चाहे वो किसी भी class में हो या तैयारी करता हो उसको सबसे पहले Time Management का knowledge होना बोहत ही जरुरी है. आप देखे ही होंगे जितने भी Topper और Successful Student हैं. वो पुरे साल भर अपना Time Table follow करते हैं.Topper Student पढाई के साथ खेल कूद, social life को भी अच्छा manage करते हैं और अंत में अछे Marks के साथ पास होते हैं. क्यूंकि वो अपना टाइम टेबल बनाने के साथ उसको Follow भी करते हैं. आमतोर पे Students के साथ ये सवाल जुड़े रहते हैं.क्या आपको साथ भी एसा होता है. जब आप पढाई करते हो तो आप अपनी पढाई को टालते रहते हो. अपने आप को उल्लू बनाते रहते हो. क्या आप पढाई को दुसरे दिन पे टालते हो. क्या आप दिन भर वो पढूंगा, इतना बजे ये पढूंगा बस ये सोचते रहते हो.

क्या आप Time management कर नहीं कर पा रहे हो. क्या आप अपने पढाई के लिए time नहीं दे रहे हो. आखिर exam के वक्त सारी सारी रात जागते हो चाय, सिगरते और coffee के सहारे पढाई करते हो. इसका मतलब आप Time Table बनाये ही नहीं हो और या फिर उसको Follow नहीं कर रहे हो.

तो अब आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं. इस लेख को Follow कीजिये ये एक topper Student का टाइम टेबल है. तो देरी किस बात सुरु करते हैं Daily Routine Time Table Kaise Banaye और क्या हैं इसके फायदे.

Topper बनने के लिए Study Time Table कैसे बनाये

अब आपको निचे effective Time Table (TT) बनाने के तरीके बताऊंगा. आब आगे पढने से पहले आप अपने इरादों को बुलंद करलें और सोच लें की चाहे कुछ भी हो जाये बिना किसी बहाने के टाइम टेबल को follow करूँगा या करुँगी. पहले जानलो टाइम टेबल बनाने के क्या हैं फायदे.

हर Student को Time Table क्यूँ बनाना चाहिए और क्या हैं इसके फायदे

कोई भी बिना फायदे के कुछ करता ही नहीं. टाइम टेबल बनाने के बोहत सारे फायदे हैं एक एक कर के निचे दिए गए हैं.

आप दिन भर किस वक्त क्या क्या करते हो उसकी एक List बनाइये

आपको time table बनाने के फायेदे के बारे में तो आपको पता ही चल गया. मगर आपको और एक चीज को ध्यान में रख के ही आपको टाइम टेबल बनाना होगा. आप पढाई के साथ साथ और क्या क्या करते हो. जैसे आप घर के काम कोनसे करते हो, किस वक्त Tuition या coaching जाते हो.

खेल कूद और दोस्तों के साथ कब समय बिताते हो. फ़ोन पे किसके साथ कितना वक्त बात करते हो. सभी काम जो आप हर रोज करते हो उन सभी को ध्यान में रखते हुए आपको एक list बनानी चाहिए.

इस्से आप time table अच्छे से बना पाओगे. आपको इसका knowledge हो जाये गा की कब आप को free वक्त मिलता है और कब Busy रहते हो. आप चाहो तो दोस्तों के Birthday और Festival के नाम भी list में डाल सकते हो. time को अच्छे से इस्तेमाल कर सकते हो. आगे इस लेख के अंत तक आप जान ही जाओगे की Time table कैसे set करे. कोन कोन से Subject

आपके Course में आते हैं उनका भी एक List बनाये

अब बारी अति है की आप के Course में कोनसे subject हैं. उनकी भी एक list बनालो. अगर आप पढाई करते करते कोई Competitive exam की तैयारी भी अगर कर रहे हो तो आपको extra time देके manage करना पड़ेगा. एक paper में आप subjects की list बना लीजिये.

School, College Life और सोने को छोड़ के आपके पास और कितना वक्त है

College life और School life में classes और sleeping ये बोहत जरुरी है. Time table वैसे तो सोने का समय और class के बाद जो वक्त बचता है उसी समय को लेके टाइम टेबल बनाया जाता है.

Class ख़तम होने के बाद आपके पास कफी समय बचाता आपके दुसरे काम करने के लिए. अब आपको एक paper में आपके पास हाथ में कितना समय है उसको लिखें इसके हिसाब से ही time table बनाइये.

अब जैसे कोई Student college से 2.00 pm को आता है. तो 2.00 pm से रात के सोने से पहले तक जितना वक्त बचता है उसी time को लेके आपको टाइम टेबल बनाना है.

आपको हर एक Subject और Activities के लिए Time निकालना है

ये टाइम टेबल का जरुरी part है. इसमें आपको जो आपके पास बचा हुआ समय है उसको इस्तेमाल करके आपको हर एक subject को कितना घंटा देना है वो decide करना है. किस समय आपको homework करना है.