Ras ke ang

इस आधार पर रस के 4 (चार) अंग होते हैं-(1) स्थायी भाव(2) विभाव(3) अनुभाव(4) संचारी भाव