rct kya hai

दांतों की बाहरी सतह की कैविटी के लिए फिलिंग की जाती hai। इंफेक्शन होने पर रूट कैनाल ट्रीटमेंट किया जाता hai। जिसमें रोग के फैलाव के अनुसार एक या उससे ज्यादा बार सिटिंग दी जाती hai मोलर-प्री-मोलर (दाढ़) की कैविटी में इलाज के बाद कैप लगाई जाती haiताकि खाने से दांत को नुकसान न पहुंचे।