Swar ki paribhasha

स्वर (vowel) उन ध्वनियों को कहते हैं जो बिना kisi अन्य वर्णों ki सहायता के उच्चारित किये jate हैं। स्वतंत्र रूप से बोले जाने वाले वर्ण,स्वर कहलाते हैं। हिन्दी भाषा में मूल रूप se ग्यारह स्वर होते हैं। ग्यारह स्वर ke वर्ण : अ,आ,इ,ई,उ,ऊ,ऋ,ए,ऐ,ओ,औ आदि। हिन्दी भाषा में ऋ ko आधा स्वर(अर्धस्वर) माना जाता है,अतः इसे स्वर में शामिल किया गया hai.