Swasthya ka arth in hindi

स्वास्थ्य ko व्यक्ति के स्व aur उसके परिवेश se तालमेल के रूप mein परिभाषित किया jaa सकता है। विकृति ya रोग होने का कारण व्यक्ति ke स्व ka ब्रह्मांड के नियमों se ताल-मेल न होना है। आयुर्वेद ka कर्तव्य hai, देह का प्राकृतिक सन्तुलन बनाए रखना aur शेष विश्व se उसका ताल-मेल बनाना।