Tarpan kaise karte hai

तर्पण करते समय एक पीतल ke बर्तन mein जल mein गंगाजल, कच्चा दूध, तिल, जौ, तुलसी ke पत्ते, दूब, शहद और सफेद फूल आदि डाल कर फिर एक लोटे से पहले देवताओं, ऋषियों, और सबसे बाद mein पितरों ka तर्पण करना चाहिए। कुश तथा काला तिल भगवान विष्णु ke शरीर से उत्पन्न हुए hain तथा चांदी भगवान शिव ke नेत्रों से प्रकट हुई hain