Television ka avishkar kisne kiya tha

इंटरनेट और स्मार्टफोन्स के सस्ता होने से अब टेलीविजन का उपयोग काफी कम हो गया हैं. इंटरनेट पर अब फिल्में टेलीविजन से पहले आ जाती है और साथ में धारावाहिकों की जगह भी आज-कल हम लोग वेब सीरीज को प्रिफर करते हैं. यही कारण हैं कि काफी सारे बड़े टीवी चैनलो की टीआरपी पिछले कुछ सालों में घटी हैं. टेलीविजन को लोग न केवल एंटरटेनमेंट बल्कि एजुकेशन और दुनिया की सभी बड़ी खबरों से अपडेटेड रहने के लिए भी देखते हैं.

टेलीविजन का उपयोग भले ही अब काफी कम हो गया हैं लेकिन अब भी कई चैनल्स की टीआरपी करोड़ो में हैं. लोग अपने पसंदीदा धारावाहिकों और फिल्मो को बड़ी स्क्रीन पर ही देखना पसंद करते हैं.

अब टेलीविजन पहले जैसा नही रहा, स्मार्ट हो चुका हैं. अपने टेलीविजन में हम यूट्यूब, नेटफ्लिक्स, प्ले स्टोर, गेम्स आदि सब एक्सेस कर सकते हैं. बिलियन डॉलर्स की एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में टेलीविजन भी अपना एक अलग ही महत्व रखता हैं.

टेलीविजन को हम सभी सामान्यतः एक डिवाइज के रूप में जानते हैं जिसमे हम विभिन्न चैनल्स पर धारावाहिक, फिल्मे, खबरे, रिएलिटी शो और एजुकेशन कंटेंट आदि देख सकते हैं. काफी सारे लोग Televison को Tele और Telly के नाम से भी जानते हैं.

अगर थोड़ी तकनीकी भाषा मे टेलीविजन को समझा जाये तो ‘टेलीविजन एक टेलीकम्युनिकेशन मीडियम डिवाइज हैं जिसका उपयोग तस्वीरों और चलचित्रों (Videos) के साउंड सहित ट्रांसमिशन में किया जाता हैं. टेलीविजन तकनीकी सेटेलाइट और रेडियो तकनीकी पर आधारित हैं.

Television को एडवरटाइजिंग, मनोरंजन, न्यूज़ और स्पोर्ट्स को लोगो तक पहुचाने के लिये उपयोग किया जाता हैं. रेडियो के आविष्कार के साथ ही टेलीविजन के आविष्कार की बाते होने लगी थी. लोगो को लगने लगा था की भविष्य में ध्वनि के साथ तस्वीरों को भी देखा जा सकेगा.

बड़े पर्दे पर सिनेमा देखने का मजा अब छोटी स्क्रीन पर हर घर मे लिया जा सकेगा. यह कल्पना वास्तविकता में बदली. एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के विस्तार के साथ टेलीविजन का भी विस्तार होने लगा.

टेलीविजन के आविष्कार के समय कहा जाने लगा था कि अब सिनेमा बन्द हो जाएगा. ऐसा नही हुआ क्योंकि आज भी फिल्मे सिनेमाघरो में अरबो की कमाई तक करती हैं. लेकिन टेलीविजन ने अब हर घर तक सिनेमाघरो को पहुचाया हैं.

टेलीविजन के माध्यम से घर बैठे नई-पुरानी फिल्मे, लेटेस्ट खबरे, शिक्षा सम्बन्धी जानकारिया आदि प्राप्त कर सकते हैं. सेटअप बॉक्स के माध्यम से हम विभिन्न चैनल्स को एक्सेस कर सकते हैं और उन चैनल्स की श्रेणी के अनुसार कॉन्टेंट को एन्जॉय कर सकते हैं.

टेलीविजन का आविष्कार फिलो टेलर फर्नवर्थ सेकंड (Philo Taylor Farnsworth II) ने किया था.

कुछ सालों पहले तक हमारे सामने बड़ा सा बॉक्स आकार का टेलीविजन हुआ करता था जो कलर में तो था लेकिन क्वालिटी इतनी बेहतर नही थी. इसके बाद एलसीडी और LED आई और अब आज हमारे घरों में काफी पतले और स्मार्ट टीवी भी हैं.

इन टीवी में ऑपरेटिंग सिस्टम भी है जो कि इन्हें काफी कैपेबल बना देते हैं. लेकिन कुछ दशकों पहले टेलीविजन ऐसा नही था. यह ब्लैक एंड वाइट था और बड़े से लकड़ी के बॉक्स में आता था. शुरुआत में साइज छोटी थी और क्वालिटी कम थी.

आज हमारे सामने जो आधुनिक टेलीविजन हैं उसका श्रेय किसी एक वैज्ञानिक को नही दिया जा सकता. टेलीविजन के आविष्कार में कई वैज्ञानिकों और विद्वानों का महत्व हैं. किसी ने थ्योरी दी तो किसी ने उस पर काम करना शुरू किया तो किसी ने सफलतापूर्वक काम खत्म किया और अविष्कार क़िया. इसके बाद अन्य ने इसे आधुनिक बनाने का काम किया.

अगर आप गूगल पर ‘Who Invented Television‘ भी सर्च करते हो तो आपको एक नही बल्कि 3 नाम Philo Farnsworth, John Logie Baird और Charles Francis Jenkins देखने को मिलेंगे.

वैसे तो आधुनिक टेलीविजन का आविष्कार में कई वैज्ञानिकों का योगदान है लेकिन इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन का आविष्कारक Philo Taylor Farnsworth II (फिलो टेलर फर्नवर्थ सेकंड) यानी कि Philo Farnsworth को माना जाता हैं. केवल 21 साल की उम्र में फ़िलो फर्नवर्थ ने टेलीविजन का अविष्कार कर दिया था.

वह एक ऐसा यंत्र तैयार करना चाहते थे जो हिलती हुई तस्वीरो (Moving Images) को कैप्चर करे और उन्हें एक कोड में बदल सके और उन्हें रेडियो किरणों (रेडियो तकनीक) का प्रयोग करते हुए दूसरे डिवाइज में ट्रांसफर कर सके. वह पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन के निर्माता माने जाते हैं.

टेलीविजन के आविष्कार का श्रेय स्कॉटिश इन्वेंटर John Logie Baird को भी दिया जाता हैं जिनकी वजह से ही Philo Farnsworth एक इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन की कल्पना को वास्तविकता में बदल पाए.

John Logie Baird ने न केवल दुनिया को पहला सफलतापूर्वक काम करने वाले टेलीविजन सिस्टम दिया था बल्कि उन्होंने ही पहली बार सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित रंगीन टेलीविज़न प्रणाली का भी आविष्कार किया. इस वजह से उन्हें टेलीविजन का जनक भी कहा जाता हैं. अतः टेलीविजन का अविष्कार John Logie Baird ने किया था.

रेडियो के आविष्कार के बाद से ही वैज्ञानिकों और विद्वानों ने टेलीविजन की कल्पना शुरू कर दी थी. विद्वानों के जहन में यह बात पहले से थी कि अगर एक कोड में तस्वीरों को एक साथ बनाया जाए और उन्हें तेजी से बदला जाए तो वह चल चित्र बनेगी. यानी कि तस्वीरे असल जिंदगी जैसी लगने लगेगी. कुल मिलाकर इस तरह से तस्वीरों से वीडियोज बनाई जा सकेगी. लेकिन इसकव स्क्रीन में कैसे उतारा जाए, यही समस्या थी.

शुरुआत में छोटी स्क्रीन्स पर इसे उतारा गया और बाद में यह बड़ी स्क्रीन्स तक गयी. सिनेमा का अविष्कार हुआ और लोगो ने इस तकनीकी का फायदा उठाया.

पहले मेकेनिकल टेलीविजन का अविष्कार John Logie Baird ने किया था. जे एल बेयर्ड 25 मार्च 1925 को अपने यंत्र से तस्वीरों को गति में लाकर लन्दन के एक डिपार्टमेंट स्टोर में टेलीविजन को लोगो को सामने लाये. यह एक मेकेनिकल टेलीविजन था. इसके बाद फर्नवर्थ ने 7 सितम्बर 1927 को इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन का अविष्कार किया.