Typhoid se sharir ka kaun sa ang prabhavit hota hai

पाचन तंत्र से जीवाणुओं के फैलने से टायफ़ायड ज्वर के लक्षण, संक्रमण होने के पश्चात आने वाले सप्ताहों में और खराब हो सकते हैं। यदि संक्रमण के कारण यह अंग व उसके मांस-तंतु नष्ट हो जाते है तो यह विकट जटिलतायें, जैसे की आंतरिक रक्तस्त्राव अथवा आंत्र विभाजन का एक भाग, उत्पन्न कर सकते हैं।