Visheshan ke kitne bhed hote hain – विशेषण के कितने भेद होते हैं?

Contents

Search questions in your finger

विशेषण क्या होता है?

विशेषण वह शब्द होता है, जो किसी संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताता है. जैसे कि

अच्छा लड़का, गंदा लड़का, प्यारा तिरंगा, महान देश आदि

विशेषण के कितने भेद होते हैं? | Visheshan Ke Kitne Bhed Hote Hain

हिन्दी व्याकरण में विशेषणों को चार वर्गों में बाँटा गया है, जो इस प्रकार हैं।

  1. गुणवाचक विशेषण
  2. परिमाणवाचक विशेषण
  3. संख्यावाचक विशेषण
  4. सर्वनामिक/संकेतवाचक विशेषण

तो आइए जानते हैं, और हम उदाहरणों के साथ चार विशेषण अंतरों पर विस्तार से विचार करेंगे।

1.गुणवाचक विशेषण

गुणवाचक विशेषण ऐसे शब्द हैं जो किसी संज्ञा या सर्वनाम की गुणवत्ता, दोष, अवस्था, भावना, रंग, आकार, समय, स्थान आदि का वर्णन करते हैं।

उदाहरण के तौर पे:

1.राम एक अच्छा लडका हे।

इस कथन में ‘अच्छा’ शब्द राम की एक विशेषता का वर्णन करता है, इसलिए यह इस वाक्य में एक विशेषण है।

2.पृथ्वी गोलाकार है।
इस वाक्य में ‘गोल’ शब्द ग्रह के एक गुण का वर्णन करता है, इसलिए यह इस कथन में एक विशेषण है।

3.भारत एक स्वतंत्र देश है।

इस वाक्यांश में ‘आजाद’ शब्द का प्रयोग विशेषण के रूप में किया गया है क्योंकि यह भारत की एक विशेषता का वर्णन करता है।

4.पानी वाकई ठंडा है।

इस वाक्य में ‘ठंडा’ शब्द पानी की एक विशेषता को दर्शाता है, इसलिए यह एक विशेषण है।

5.कुआं सचमुच गहरा है।

इस वाक्य में ‘गहरा’ शब्द कुएँ के एक गुण का वर्णन करता है, इसलिए यह इस वाक्य में एक विशेषण है।

आपने इन पांच उदाहरणों से गुणात्मक विशेषण को समझ लिया होगा, जैसे हम इन उदाहरणों से मात्रात्मक विशेषण को समझेंगे।

2. परिमाणवाचक विशेषण

परिमाणवाचक विशेषण वे शब्द होते हैं जो किसी संज्ञा या सर्वनाम की मात्रा, माप या अन्य गुणों का वर्णन करते हैं।

उदाहरण के तौर पे:

1.राम की जेब में सौ रुपये हैं।

इस वाक्य में ‘सौ’ शब्द एक निश्चित राशि का द्योतक है, इसलिए इस कथन में ‘सौ’ एक परिमाणवाचक विशेषण है।

2.मेरे पास तीन पेन हैं।

इस वाक्य में ‘तीन’ शब्द एक निश्चित मात्रा में कलम को दर्शाता है, इसलिए इस कथन में ‘तीन’ एक मात्रात्मक विशेषण है।

3.मोहित चार किलो सेव लेकर पहुंचे।

इस वाक्य में शब्द ‘चार किलोग्राम’ सेव की एक विशिष्ट मात्रा को दर्शाता है, इसलिए ‘चार किलो’ इस कथन में एक मात्रात्मक विशेषण है।

4.मेरे पास कुछ पोशाकें हैं।

इस वाक्य में ‘कुछ’ शब्द रंग की एक अनिश्चित मात्रा को दर्शाता है, इसलिए ‘कुछ’ इस वाक्य में एक मात्रात्मक विशेषण है।

5.कार्यालय पचास व्यक्तियों को रोजगार देता है।

इस कथन में ‘पचास’ शब्द एक निश्चित संख्या में व्यक्तियों को दर्शाता है, इसलिए ‘पचास’ इस वाक्य में एक मात्रात्मक विशेषण है।

इन पांच उदाहरणों के बाद आपको मात्रात्मक विशेषणों की अच्छी समझ होनी चाहिए, इसलिए अब हम विभिन्न प्रकार के मात्रात्मक विशेषणों को देखेंगे।

परिमाणवाचक विशेषण के प्रकार

  1. निश्चित परिमाणवाचक विशेषण
  2. अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण

1. निश्चित परिमाणवाचक विशेषण

मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक मात्रात्मक विशेषण एक निर्दिष्ट मात्रा या माप के साथ विशेषण के रूप में जाना जाता है।

पसंद:-

1.मेरी जेब में पाँच रुपये हैं।

इस कथन में शब्द ‘पाँच’ रंग की एक विशिष्ट मात्रा को दर्शाता है, जिससे यह एक निश्चित मात्रात्मक विशेषण बन जाता है।

2.तिरंगा तीन अलग-अलग रंगों से बना है।

इस कथन में ‘तीन’ शब्द एक विशिष्ट मात्रा में रंग को दर्शाता है, इसलिए यह एक मात्रात्मक विशेषण है।

3.50 रुपये की कीमत वाली कार।

इस कथन में ‘फिफ्टी’ शब्द एक निश्चित मात्रा में रंग को दर्शाता है, इसलिए ‘फिफ्टी’ एक मात्रात्मक विशेषण है।

2. अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण

परिमाणवाचक अनिश्चितवाचक विशेषण बिना किसी निश्चित मात्रा या माप के विशेषण कहलाते हैं।

पसंद:-

1.मेरे पास कुछ नकदी है।

इस वाक्य में ‘कुछ’ शब्द रंग की अनिश्चित मात्रा को दर्शाता है, इसलिए ‘कुछ’ इस वाक्य में अनिश्चित मात्रात्मक विशेषण है।

2.मुझे थोड़ा परिपक्व होने दो।

इस कथन में ‘छोटा’ शब्द अज्ञात मात्रा में रंग को इंगित करता है, इसलिए ‘छोटा’ एक अनिश्चित मात्रात्मक विशेषण है।

3.इसमें कुछ समय लगेगा।

इस कथन में ‘छोटा’ शब्द अज्ञात मात्रा में रंग को इंगित करता है, इसलिए ‘छोटा’ एक अनिश्चित मात्रात्मक विशेषण है।

3.संख्यावाचक विशेषण

अंकवाचक विशेषण वे शब्द होते हैं जो संज्ञा या सर्वनाम की संख्या बताते हैं।

पसंद:

1.मैं पाँचवी कक्षा में हूँ।

इस वाक्य में ‘पाँचवाँ’ शब्द एक संख्या का बोध कराता है, इसलिए इस कथन में ‘पाँचवाँ’ एक अंक विशेषण है।

विभिन्न प्रकार के मात्रात्मक विशेषण

  1. संख्यात्मक मान के साथ विशेषण
  2. संख्या क्रिया विशेषण अनिश्चित

 1.निश्चित संख्यावाचक विशेषण

निश्चित संख्यावाचक विशेषण ऐसे विशेषण होते हैं जिनका एक संख्यात्मक अर्थ होता है।

पसंद:-

1.केले का एक गुच्छा

इस कथन में ‘पाँच’ शब्द केले की एक निश्चित मात्रा को दर्शाता है, इसलिए इस वाक्य में ‘पाँच’ एक निश्चित अंक विशेषण है।

2.चालीस पुरुषों का एक समूह

इस कथन में ‘चालीस’ शब्द पुरुषों की एक निश्चित संख्या को दर्शाता है, इसलिए ‘चालीस’ इस वाक्य में एक निश्चित संख्यावाचक विशेषण है।

3.दस लाख डॉलर

इस कथन में ‘दस’ शब्द एक निश्चित संख्या में लाख का बोध कराता है, इसलिए इस वाक्य में ‘दस’ एक निश्चित संख्यावाचक विशेषण है।

4.पंद्रह किलोग्राम वजन

इस कथन में ‘पंद्रह’ शब्द एक विशिष्ट किलो को दर्शाता है, इसलिए ‘पंद्रह’ इस वाक्य में एक निश्चित अंक विशेषण है।

5.कुल ग्यारह जहाज

इस कथन में ‘ग्यारह’ शब्द जहाज की एक निश्चित मात्रा को दर्शाता है, इसलिए ‘ग्यारह’ एक निश्चित अंक विशेषण है।

2.अनिश्चित संख्या वाले संख्यात्मक विशेषण

किसी संख्या के बोध वाले विशेषणों को अनिश्चयवाचक विशेषण कहते हैं।

पसंद:-

1.केले की एक बड़ी संख्या

इस वाक्य में ‘अनेक’ शब्द एक निश्चित संख्या के केलों को दर्शाता है, इसलिए ‘अनेक’ इस वाक्य में एक अनिश्चित अंक विशेषण है।

2.बहुत मर्दाना

इस वाक्य में ‘अनेक’ शब्द पुरुषों की एक विशिष्ट संख्या को दर्शाता है; इस प्रकार, ‘कई’ इस वाक्य में एक अनिश्चित संख्यात्मक विशेषण है।

कुछ मिलियन

इस वाक्य में ‘अनेक’ शब्द लाखों की एक विशिष्ट संख्या का बोध कराता है, इसलिए ‘अनेक’ इस वाक्य में एक अनिश्चित अंक विशेषण है।

3.कुछ किलो

क्योंकि इस वाक्य में ‘अनेक’ शब्द एक विशिष्ट संख्या में किलोग्राम को संदर्भित करता है, यह एक अनिश्चित संख्यात्मक विशेषण है।

4.कई जहाज

इस वाक्य में ‘कई’ शब्द जहाज की एक विशिष्ट मात्रा को दर्शाता है; इस प्रकार, ‘कई’ इस वाक्य में एक अनिश्चित संख्यात्मक विशेषण है।

4 .विचारोत्तेजक विशेषण / सर्वनाम

सर्वनाम या सांकेतिक विशेषण वे सर्वनाम शब्द होते हैं जो किसी संज्ञा के पहले उसका बोध कराने के लिए डाले जाते हैं।

पसंद:-

1’यह घोड़ा चल रहा है।

क्योंकि इस वाक्य में ‘यह’ शब्द घोड़े (संज्ञा शब्द) को संदर्भित करता है, ‘यह’ एक सर्वनाम/सूचक विशेषण है।

2.यह मेरा वाहन है।

क्योंकि इस वाक्य में ‘ये’ शब्द वाहन (संज्ञा शब्द) को संदर्भित करता है, यह एक सर्वनाम/संकेतक विशेषण के रूप में कार्य करता है।

4.मेरी साइकिल का क्या हुआ?

क्योंकि इस वाक्य में ‘मैरी’ शब्द चक्र (संज्ञा शब्द) को संदर्भित करता है, यह एक सर्वनाम/सूचक विशेषण के रूप में कार्य करता है।

5.मेरा भाई शहर के लिए निकल गया है।

इस वाक्य में ‘my’ शब्द एक सर्वनाम/सूचक विशेषण है क्योंकि यह भाई (संज्ञा शब्द) की ओर इशारा कर रहा है।

6.वह घर मेरा है।

क्योंकि इस वाक्य में ‘वह’ शब्द भाववाचक विशेषण है, इसलिए यह एक सर्वनाम/सूचक विशेषण है।

दोस्तों, मुझे यकीन है कि आप विशेषण के विभिन्न रूपों से अवगत हैं। (विशेष के कितने भेद हैं) जानकारी उपयोगी होती। यदि आपके कोई प्रश्न या सुझाव हैं, तो कृपया उन्हें टिप्पणी अनुभाग में हमारे साथ साझा करें।

Scroll to Top