What is smps in hindi

स्विच मोड पॉवर सप्लाई (Switch-mode power supply) या एसएमपीएस उन शक्ति-परिवर्तकों (पावर कन्वर्टर्स) को कहते हैं जिनमें पॉवर-कन्वर्शन के लिये किसी स्विच (जैसे आईजीबीटी) को उच्च आवृत्ति पर चालू-बन्द (ON/OFF) किया जाता है। … उच्च दक्षता के अतिरिक्त इनका आकार (साइज) भी समान क्षमता के लिनियर पॉवर सप्लाई से छोटा होता है।

हर कोई आज की दुनिया में computer का इस्तेमाल करता है, चाहे वो Desktop करे या फिर Laptop लेकिन उसके अंदर भी अलग अलग parts रहते है तो उन parts को बिजली चहिये लेकिन ये बिजली हम अपने घर में इस्तेमाल करते उससे काफी कम होती है, जैसे बात की जाये TV, FRIDGE, IRON, OVEN वगेरा ये सब Direct 220V-240V तक इस्तेमाल करते है लेकिन  अगर यही Voltage हम computer के parts को Direct दे देंगे तो सब कुछ जल जायेगा, तो वैसे Computer को कितना बिजली चाहिए मैं आज आपको बताऊंगा की Computer के अंदर Voltage कैसे कण्ट्रोल होता है और कोन करता है, तो चलिए जानते है के SMPS क्या होता है.

SMPS क्या है (What is SMPS in Hindi)

SMPS का पूरा नाम है Switch Mode Power Supply. ये एक Electronic Circuit है अगर Desktop के लिए अगर अलग से खरीदो गे तो आपको वो कुछ Square शेप का डबा मिलेगा वही SMPS है, ये Device Computer के अलग अलग हिस्सों को Power देता है जैसे की RAM, Motherboard, Fan को. वैसे MotherBoard से अलग अलग हिसों तक बिजली ज्याती है.

अब हम इसके काम के बारे में थोडा जानते हैं, तो ये सबसे पहले जब Main Power Supply मतलब घर के Board से  computer को देते है तब वो सबसे पहले AC (Alternative CURRENT)  के Form में रहता है उसके बाद जब ये AC computer के SMPS के पास ज्याता है तो ये SMPS इसको DC में Convert कर देता है इसके लिए वो Capacitor और DIODE के का इस्तेमाल करता है ये Regulator की मदद से Switch को कभी ON और कभी OFF करता है मतलब Switch Mode change करता है, कभी DC को AC में CONVERT करता है और कभी AC को DC में इसलिए इसका नाम भी  Switch Mode Power Supply कहा ज्याता है. अब जान ही गए Switch Mode Power Supply क्या होता है.

SMPS कैसे काम करता है

तो सबसे पहले मैं Cable से जो current computer के पास आता है तो वो पहले SMPS के अंदर जो छोटे device है उनसे होते हुए ज्याता है, तो सबसे पहले AC filter के पास जाता है वहां पे AC filter करने की प्रक्रिया में Nutral और Phase के बिच में NTC, Fuse, line Filter, PF Capacitor का इस्तेमाल होता है, इसके Output को Rectifier और Filter को दिया ज्याता  है, जो की इसको AC से DC में Convert करता है  जो Rectifier था और जो filter था वो दो capacitor की मदद से Smooth DC में Convert करता है, इस प्रक्रिया का Output Pure DC होता है और इसको switching transistor को दिया ज्याता था यहाँ पे हम दो NPN transistor का इस्तेमाल करते है जो की switching Cycle की मदद से फिर एक AC Output देता है, इसको हम देते है एक और एक प्रक्रिया करने के लिए जिसका नाम था SM transformer तो ये थी SMPS की PRIMARY CIRCUIT की बात, इसके बाद ये और एक बार Rectifier और Filter को दिया ज्याता है जो की फिर से इसको इस AC Supply को और एक बार Smooth DC में Convert करता है (एक बात याद रखना की घर में transformer के पास से जो current आता है वो है AC और Battery में जो current आता है वो DC होता है) ये क्रिया के बाद जो Output निकला वो तिन Form में होता है एक 12VOLT, 5 VOLT, 3 VOLT. ये तो SMPS की primary और Secondary circuit है.

लेकिन primary circuit के Rectifier और Filter एक  Output Starter transfermer के साथ Connect होता और ये Starter के साथ Connect होता जिसको और एक Amlifier IC के साथ Connect किया ज्याता है और इसके तिन Output WIRE होते हैं, amplifier IC SMPS का एक एसा  area है जहाँ पे पूरा management का काम होता है. Amlifier IC से तिनMajor Cable निकल ते हैं एक है green जो की Power on केबल है दूसरा Violet colour में आता है जो की +5 volt का Stand by current देता है, और तीसरा जो है वो Gray color में आता है, जिसको Power Bood cable बोला ज्याता है.